भारत रत्न और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन

Thu 16-Aug-2018 7:40 pm
93 वर्ष की उम्र में निधन, 7 दिन का राष्ट्रीय शोक; ग्वालियर में 25 दिसंबर 1924 को हुआ था जन्म

नई दिल्ली: बीमारियों से जूझते हुए आखिरकार पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन हो गया। एम्स की तरफ से जारी मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक अटल बिहारी वाजपेयी ने 5 बजकर 5 मिनट पर आखिरी सांस ली।

उनका पार्थिव शरीर उनके आवास (6-ए कृष्णा मेनन मार्ग) पर पहुंच गया है। कल सुबह 9 बजे पार्टी मुख्यालय पर अटल जी के आखिरी दर्शन किए जाएंगे। फिलहाल आज रात उनका पार्थिव शरीर उनके आवास पर ही रहेगा। 17 अगस्त को दोपहर चार बजे अटल जी का अंतिम संस्कार किया जाएगा। राजघाट के करीब राष्ट्रीय स्मृति स्थल के बगल में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

कल (शुक्रवार) 1.30 बजे अटल जी की अंतिम यात्रा निकाली जाएगी। अटल बिहारी वाजपेयी के निधन से देश भर में शोक की लहर देखने को मिल रही है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से लेकर लगभग सभी नेता उनके निधन पर अपना दुख व्यक्त कर रहे हैं। राष्ट्रपति ने वाजपेयी के निधन को देश की अप्रिय घटना बताते हुए कहा कि वो देश का गौरव थे।

पीएम नरेंद्र मोदी ने वाजपेयी जी के निधन पर खुद को शुन्य अवस्था में जाहिर करते हुए कहा कि मेरे अंदर भावनाओं का ज्वार उमड़ रहा है। उन्होंने अटल जी के निधन को एक युग का अंत कहा है। मैं नि:शब्द हूं, शून्य में हूं, लेकिन भावनाओं का ज्वार उमड़ रहा है।

लाल कृष्ण आडवाणी ने भी अटल जी के निधन पर गहरा दुख जाहिर किया है। उन्होंने 65 साल की अटल जी के साथ अपनी दोस्ती का जिक्र करते हुए इस वक्त खुद को निशब्द कहा।

तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने प्रोटोकॉल तोड़ते हुए वाजपेयी को उनके घर जाकर भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया था।

तीन बार प्रधानमंत्री बने:
वाजपेयी सबसे पहले 1996 में 13 दिन के लिए प्रधानमंत्री बने। बहुमत साबित नहीं कर पाने की वजह से उन्हें इस्तीफा देना पड़ा। दूसरी बार वे 1998 में प्रधानमंत्री बने। सहयोगी पार्टियों के समर्थन वापस लेने की वजह से 13 महीने बाद 1999 में फिर आम चुनाव हुए। 13 अक्टूबर 1999 को वे तीसरी बार प्रधानमंत्री बने। इस बार उन्होंने 2004 तक अपना कार्यकाल पूरा किया।

- 1924 में ग्वालियर में जन्मे, मूल रूप से कवि और शिक्षक
- अटलजी 2009 से बीमार थे, 2015 में आखिरी तस्वीर सामने आई थी
- वे 10 बार लोकसभा सदस्य, दो बार राज्यसभा सदस्य और तीन बार प्रधानमंत्री रहे
- 11 जून को एम्स में भर्ती किया गया था, दो दिन से वेंटिलेटर पर थे
- केंद्र सरकार ने 7 दिन का राष्ट्रीय शोक की घोषणा की, दिल्ली और उत्तर प्रदेश में कल छुट्टी रहेगी.
- पंजाब और मध्य प्रदेश में भी कर सरकारी छुट्टी रहेगी, म. प्र. में सात दिन का राजकीय शौक|

Related Post