चुनाव 2019

चुनाव 2019

11 अप्रैल से 19 मई 2019 के बीच सात चरणों में लोकसभा की 543 सीटों के लिए चुनाव कराए जाएंगे। मौजूदा लोकसभा का कार्यकाल तीन जून को समाप्त होगा। आम चुनाव के साथ - साथ आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, ओडिशा, सिक्किम और जम्मू और कश्मीर राज्यों में विधान सभा चुनाव भी होंगे।

चुनाव परिणाम / नतीजा : 23 मई

बिहार, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में होंगे सातों चरण में मतदान

कब - कब होंगे मतदान

पहला चरण: 11 अप्रैल - 91 सीट

आंध्र प्रदेश - 25, अरुणाचल - 2 असम - 5 बिहार - 4 छत्तीसगढ़ - 1, जम्मू - कश्मीर - 2, महाराष्ट्र - 1, मेघालय - 1, मिजोरम - 1, ओडिशा - 4, सिक्किम - 1, तेलंगाना - 17, त्रिपुरा - 1, उत्तर प्रदेश - 8, उत्तराखंड - 5, पश्चिम बंगाल - 2, अंडमान निकोबार - 1, लक्षद्वीप - 1

दूसरा चरण: 18 अप्रैल - 91 सीट

असम - 5, बिहार - 5, छत्तीसगढ़ - 3, जम्मू - कश्मीर - 2, कर्नाटक - 14, महाराष्ट्र - 10, मणिपुर - 1, ओडिशा - 5, तमिलनाडु - 39, त्रिपुरा - 1, उत्तर प्रदेश - 8, पश्चिम बंगाल - 3, पुद्दुचेरी - 1

तीसरा चरण: 23 अप्रैल - 115 सीट

असम - 4, बिहार - 5, छत्तीसगढ़ - 7, गुजरात - 26, गोवा - 2, जम्मू - कश्मीर - 1, कर्नाटक - 14, केरल - 20, महाराष्ट्र - 14, ओडिशा - 6, उत्तर प्रदेश - 10, पश्चिम बंगाल - 5, दादर नागर हवेली - 1, दमन दीव - 1.

चौथा चरण: 29 अप्रैल - 71 सीट

बिहार - 5, जम्मू - कश्मीर - 1, झारखंड - 3, मध्यप्रदेश - 6, महाराष्ट्र - 17, ओडिशा - 6, राजस्थान - 13, उत्तर प्रदेश - 13, पश्चिम बंगाल - 8

पांचवां चरण: 6 मई - 51 सीट

बिहार - 5, जम्मू कश्मीर - 2, झारखंड - 4, मध्यप्रदेश - 7, राजस्थान - 12, उत्तर प्रदेश - 14, पश्चिम बंगाल - 7

छठवां चरण: 12 मई - 59 सीट

बिहार - 8, हरियाणा - 10, झारखंड - 4, मध्यप्रदेश - 8, उत्तर प्रदेश - 14, पश्चिम बंगाल - 8, दिल्ली - 7

सातवां चरण: 19 मई - 59 सीट

बिहार - 8, झारखंड - 3, मध्यप्रदेश - 8, पंजाब - 13, चंडीगढ़ - 1, पश्चिम बंगाल - 9, हिमाचल - 4

मुख्य विशेषताएं

  • चुनाव में 90 करोड़ लोग अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे। करीब डेढ़ करोड़ वोटर 18 - 19 आयु वर्ग के होंगे।
  • 1950 नंबर डायल कर वोटर लिस्ट संबंधित जानकारी ले सकेंगे।
  • पहचान पत्र के लिए 11 विकल्प रखे गए हैं।
  • 10 लाख मतदान केंद्र बनाए जाएंगे, 2014 में 9 लाख मतदान केंद्र बनाए गए थे।
  • हर मतदान केंद्र पर ईवीएम के साथ वीवीपैट का भी इस्तेमाल होगा।
  • रात 10 से सुबह 6 बजे तक लाउडस्पीकर का इस्तेमाल प्रतिबंधित रहेगा। मतदान से 48 घंटे पहले लाउडस्पीकर का इस्तेमाल पूरी तरह प्रतिबंधित।
  • ईवीएम पर उम्मीदवार की तस्वीर होगी।
  • मतदान से 5 दिन पहले मिल सकेगी वोटर स्लिप।
  • दिव्यांगों के लिए विशेष एप की सुविधा ताकि मतदान के दिन वो परेशान न हों।

Election News